KANPUR NEWS: 100 स्टूडेंट का आईक्यू टेस्ट, एक भी नहीं मिला जीनियस, शहर में जीनियस स्टूडेंट्स का आंकड़ा बहुत कम

कानपुर (ब्यूरो)। कानपुर रेप्यूटेड एकेडमिक इंस्टीटय्शंस का हब है. यहां ब्रेन फैक्ट्री के नाम से मशहूर आईआईटी है. सीएसजेएमयू के साथ शानदार टेक्निकल यूनिवर्सिटी एचबीटीयू है. एक से बढक़र एक टैलेंटेड स्टूडेंट हैं. इसके बाद भी अगर ये कहा जाए कि इस शहर में जीनियस स्टूडेंट्स का आंकड़ा बहुत कम है तो शायद आपको आश्चर्य होगा. लेकिन यह सच है. बीते दो साल में चुन्नीगंज स्थित मंडलीय मनोविज्ञान केंद्र को एक भी स्टूडेंट जीनियस नहीं मिला है. यह रिजल्ट, केंद्र में बीते दो सालों में आईक्यू चेक कराने के लिए आने वाले यूथ का है.

सवाल तो बनता है...

इस साल की बात करें तो केंद्र में लगभग 40 स्टूडेंट्स का आईक्यू चेक किया गया है, जिसमें एक भी स्टूडेंट जीनियस नहीं मिला है. यह रिजल्ट केवल इस साल का ही नहीं बल्कि बीते साल भी केंद्र को एक भी जीनियस स्टूडेंट नहीं मिला था. जीनियस स्टूडेंट न मिलने का अर्थ यह नहीं है कि सिटी मेें टैलेंटेड स्टूडेंट्स की कमी है, लेकिन आईक्यू के आधार पर जीनियस स्टूडेंट का न मिल पाना एक सवाल जरूर है. अगर दो सालों की बात करें तो लगभग 100 स्टूडेंट्स का आईक्यू चेक किया गया है.

वेरी सुपीरियल केवल एक

आईक्यू टेस्ट में जीनियस के साथ साथ वेरी सुपीरियर स्टूडेंट भी कम ही हैैं. साल 2024 में हुए 40 आईक्यू टेस्ट में केवल एक स्टूडेंट वेरी सुपीरियर मिला है. इसके अलावा सुपीरियर स्टूडेंट्स की संख्या पांच हैैं. सबसे ज्यादा संख्या ऐवरेज स्टूडेंट कि है जो कि 15 है. इसके अलावा ऐवरेज से बेहतर की बात करें तो ऐसे स्टूड़ेंट नौ हैैं. वहीं, ऐवरेज से कुछ बेहतर की कैटेगरी में आठ स्टूडेंट्स हैैं. इसके अलावा दो स्टूड़ेंट ऐवरेज से नीचे भी हैैं.

क्यों कराते हैैं आईक्यू चेक

मंडलीय मनोविज्ञान केंद्र में आईक्यू चेक कराने आने वालों में सबसे ज्यादा 10वीं और 12वीं पास या एपियर स्टूडेंट्स होते हैैं. आईक्यू चेक कराने के पीछे उनका मकसद अपनी इंटेलीटेंस क्वालिटी को जानना होता है. कई स्टूडेंट इंजीनियरिंग, मेडिकल, सीए, सीएस या किसी अन्य एग्जाम की तैयारी के पहले खुद की क्षमता को जानना चाहते हैैं. इसके अलावा कुछ स्टूडेंट ऐसे भी होते हैैं जो कि एडमिशन से पहले खुद की क्षमता जानने क लिए यहां पर आते हैैं.

ऐसे होता है आईक्यू टेस्ट

मंडलीय मनोविज्ञान केंद्र, चुन्नीगंज में आईक्यू टेस्ट बिल्कुल फ्री किया जाता है. इसके लिए सबसे पहले आपको सेंटर में आकर अपनी समस्या आदि को बताना होगा. इसके बाद साइकोलाजिस्ट इस टेस्ट को करते हैैं. टेस्ट में आपको एक क्वेश्चन पेपर टाइप का दिया जाता है, जिसमें आंसर के आधार पर स्कोर तय होता है. कुछ मामलों में गवर्नमेंट आर्डर पर भी आईक्यू टेस्ट किया जाता है.

आईक्यू का स्कोर

140 या उससे ज्यादा - जीनियस

130 से 139 के बीच - वेरी सुपीरियर

120 से 129 के बीच - सुपीरियर

115 से 119 के बीच -एवरेज से बेहतर

110-114 के बीच - एवरेज से कुछ बेहतर

90-109 के बीच - एवरेज

85-89 के बीच - एवरेज से कुछ कम

2024-07-10T16:26:25Z dg43tfdfdgfd